चीन में बढ़ते निमोनिया के मामलों ने भारत में बढ़ाई चिंता

चीन में निमोनिया के मामलों में वृद्धि होने से भारत में भी चिंता बढ़ गई है। इस सन्दर्भ में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्र और अस्पताल की तैयारियों के उपायों की तुरंत समीक्षा करने की सलाह दी है। 

Nov 27, 2023 - 13:35
 0  189
चीन में बढ़ते निमोनिया के मामलों ने भारत में बढ़ाई चिंता

 ब्यूरो। रोजाना हिमाचल 

चीन में निमोनिया के मामलों में वृद्धि होने से भारत में भी चिंता बढ़ गई है। इस सन्दर्भ में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्र और अस्पताल की तैयारियों के उपायों की तुरंत समीक्षा करने की सलाह दी है। 
स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को ‘कोविड-19 के संदर्भ में संशोधित निगरानी रणनीति के लिए परिचालन दिशानिर्देश’ लागू करने के लिए कहा गया है। ऐसे में जिला एवं राज्य अधिकारी ILI/SARI (इन्फ्लुएंजा जैसी बीमारी/गंभीर तीव्र श्वसन संक्रमण) के मामलों पर नजर रखेंगे। सामान्य कारणों से सांस संबंधी बीमारी में खास तौर से इन्फ्लूएंजा, माइकोप्लाज्मा निमोनिया, SARS-CoV-2 जैसे कारणों से वृद्धि होती है।
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तरी चीन में बच्चों में श्वसन संबंधी बीमारियों के मामले सामने आने की जानकारी दी गई है। इसे लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि उपलब्ध जानकारी के अनुसार, चीन में पिछले कुछ सप्ताह से सांस लेने से संबंधी बीमारियों के मामले बढ़े हैं। बच्चों में श्वसन संबंधी बीमारियों के सामान्य कारणों का पता लगाया गया है और किसी असामान्य रोगजनक या किसी अप्रत्याशित क्लीनिकल स्वरूप की कोई पहचान नहीं की गई है। 
चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने इस महीने के मध्य में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके सांस लेने संबंधी बीमारियों, विशेष रूप से इन्फ्लूएंजा, माइकोप्लाज्मा निमोनिया, छोटे बच्चों को प्रभावित करने वाला एक सामान्य जीवाणु संक्रमण और श्वसन सिंकाइटियल वायरस (आरएसवी) में वृद्धि की सूचना दी। इस सप्ताह, सरकार के आधीन चाइना नेशनल रेडियो ने कहा कि बीजिंग चिल्ड्रेन्स हॉस्पिटल में प्रतिदिन औसतन 7,000 मरीज भर्ती होते हैं, जो अस्पताल की क्षमता से अधिक है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow